arresting new (1)

Binomo App का मालिक कौन हैं?यह किस देश का ऐप हैं?

दोस्तों आपने Binomo App का नाम तो जरूर सुना होगा.यह एक ऑनलाइन ट्रेडिंग ऐप हैं जिसकी मदद से कम राशि से भी ट्रेडिंग शुरू करके ढेर सारा पैसा कमा सकते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं? Binomo App का मालिक कौन हैं?यह किस देश का ऐप हैं? अगर नही जानते तो चिंता की कोई बात नही हैं क्योंकि आज इस आर्टिकल में हम आपको Binomo App से जुड़ी कई महत्वपूर्ण जानकारियां उपलब्ध कराने वाले हैं.

Binomo App आज के समय में ऑनलाइन ट्रेडिंग के लिए सबसे पॉपुलर ऐप के रूप में जाना जाता हैं. इसका यूज़ दुनिया के लगभग 133 देशों जैसे भारत, तुर्की, वियतनाम, ब्राजील आदि में किया जाता हैं. Binomo App की मदद से न केवल ट्रेडिंग की जा सकती हैं बल्कि ट्रेडिंग के लिए ग्राफ भी उपलब्ध कराया जाता हैं. जिसके अनुसार ट्रेडिंग करना काफी फायदेमंद साबित होता हैं. Binomo App एक बढ़िया और भरोसेमंद ट्रेडिंग ऐप हैं इसके गूगल प्ले स्टोर से अब तक 10 मिलियन से भी अधिक डाउनलोड किये जा चुके हैं. ऐसे में Binomo App के बारे में अधिक विस्तार से जान लेना हमारे लिए आवश्यक हो जाता हैं तो चलिए शुरू करते हैं.

binomo app ka malik kon hai,binomo kis desh ka app hai
Binomo App का मालिक कौन हैं?यह किस देश का ऐप हैं?

Binomo App का मालिक कौन हैं?

Binomo App का मालिक डॉल्फिन कॉर्प कंपनी हैं. इस ट्रेडिंग प्लेटफार्म की स्थापना सन 2014 में की गई थी और सन 2020 में Binomo App को मोबाइल फोन के जरिये ट्रेडिंग करने के लिए लॉन्च किया गया था.

Binomo किस देश का App हैं?

Binomo सेंट विंसेंट और ग्रेनेडाइन्स देश का App हैं. जिसे 1 दिसंबर 2020 में गूगल प्ले स्टोर पर लॉन्च किया गया था. यह ऑनलाइन ट्रेडिंग के लिए सबसे मशहूर ऐप और वेबसाइट के रूप में भी जानी जाती हैं. Binomo App से ट्रेंडिंग भारत मे पूरी तरह से लीगल हैं.

दोस्तों अभी आपने जाना कि Binomo App का मालिक कौन हैं?यह किस देश का ऐप हैं? अगर आपको यह आर्टीकल पसन्द आया हैं तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर करना मत भूलें और यदि आप इस आर्टिकल से जुड़ा कोई सवाल हमसे पूछना चाहते हैं तो नीचे कमेंट कर सकते हैं. हम जल्द से जल्द आपके सभी सवालों का जवाब देने की पूरी कोशिस करेंगे.हम इस ब्लॉग वेबसाइट के माध्यम से रोज नई-नई जानकारी आप तक पहुचाने का प्रयास करते हैं. कृपया वेबसाइट पर डेली विजिट करना मत भूलें.धन्यवाद!

शेयर मार्केट में करते हैं निवेश? तो आपके काम आ सकता है सेबी का ये प्लेटफॉर्म

SEBI के इस ऐप से आपको सिक्योरिटीज मार्केट को लेकर बेसिक कॉन्सेप्ट डेवलप हो जाता है. इसके साथ ही App ट्रेडिंग के लिए मोबाइल ऐप से आपको केवाईसी प्रोसेस के बारे में भी जानकारी मिलती है.

aajtak.in

  • नई दिल्ली,
  • 21 जनवरी 2022,
  • (ट्रेडिंग के लिए मोबाइल ऐप अपडेटेड 21 जनवरी 2022, 6:46 PM IST)
  • इंवेस्टर्स को मिलेगी मार्केट से जुड़ी जानकारी
  • अपनी शिकायत भी दर्ज करा पाएंगे इंवेस्टर्स

कोरोना ट्रेडिंग के लिए मोबाइल ऐप महामारी के बाद से शेयर बाजार में इन्वेस्ट करने वालों की संख्या काफी तेजी से बढ़ी है. हालांकि, नए इन्वेस्टर्स के लिए मार्केट को समझना सबसे अहम है. इसके साथ ही उन्हें यह जानकारी भी होनी चाहिए अगर उन्हें किसी तरह की शिकायत दर्ज करानी है तो उसका तरीका क्या है. इसी चीज को ध्यान में रखते हुए मार्केट रेगुलेटर सेबी (SEBI) ने हाल में एक नया मोबाइल ऐप लॉन्च किया है. ‘सारथी’ नाम की इस मोबाइल ऐप (Saa₹thi App) के जरिए सेबी का मकसद लोगों में शेयर मार्केट (ट्रेडिंग के लिए मोबाइल ऐप ट्रेडिंग के लिए मोबाइल ऐप Share Market) को लेकर जागरूकता फैलाना है.

आइए जानते हैं किस तरह काम करेगा ये प्लेटफॉर्म (Saa₹thi App Basic Features)

SEBI के इस ट्रेडिंग के लिए मोबाइल ऐप ऐप से आपको सिक्योरिटीज मार्केट को लेकर बेसिक कॉन्सेप्ट डेवलप हो जाता है. इसके साथ ही App से आपको केवाईसी प्रोसेस के बारे में भी जानकारी मिलती है. अगर आपको ट्रेडिंग और सेटलमेंट से जुड़ी कोई जानकारी चाहिए तो यह भी इस प्लेटफॉर्म पर अवेलेबल है. मार्केट के हालिया डेवलपमेंट, निवेशक की शिकायत दूर करने के तंत्र इत्यादि पर भी इस ऐप से जानकारी मिल जाएगी.

इस तरह कर सकते हैं Download (Saa₹thi App Download Process)

SEBI का Saa₹thi App अंग्रेजी और हिन्दी में अवेलेबल है. इस App के Android व iOS वर्जन को प्ले स्टोर या ऐप स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है. सेबी प्रमुख अजय त्यागी ने बताया कि ट्रेडिंग के लिए मोबाइल ऐप आने वाले समय में यह App और भारतीय भाषाओं में अवेलेबल होगा.

जानिए Saa₹thi को लेकर सेबी प्रमुख ने क्या कहा

SEBI Chairman अजय त्यागी ने ऐप को लॉन्च करते हुए कहा, "सिक्योरिटीज मार्केट की जानकारी देकर निवेशकों को सशक्त बनाने के लक्ष्य के साथ इस मोबाइल ऐप को लॉन्च किया गया है. हाल में इंडिविजुअल इंवेस्टर की संख्या में इजाफा हुई है और मोबाइल के जरिए बड़े पैमाने पर ट्रेडिंग हो रही है. ऐसे में मोबाइल ऐप से जरूरी जानकारी आसानी से हासिल करने में मदद मिलेगी. मैं इस बात को लेकर आश्वस्त हूं कि आने वाले समय में यह ऐप इंवेस्टर्स के बीच काफी लोकप्रिय साबित होगा, खासकर युवाओं के बीच."

App के कंटेट में होगा लगातार अपडेट

मुंबई में लॉन्च इवेंट के दौरान त्यागी ने App की सामग्री को लगातार अपडेट किए जाने की जरूरत पर बल दिया. सेबी के होल-टाइम मेंबर एस के मोहंती, एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर और अन्य अधिकारियों ने भी कार्यक्रम में हिस्सा लिया.

ट्रेडिंग के लिए मोबाइल ऐप

By Malvika Kashyap

Worth to Share

Note Tap the screen for the next slide

शेयर मार्केट ट्रेडिंग शेयर मार्केट में ट्रेडिंग करना सबसे आकर्षक पैसे कमाने का ऑप्शन है. ऐसे में आजकल हर कोई मोबाइल ऐप के जरिए शेयर मार्केट में ट्रेडिंग कर रहा है.

कई सारे ऑनलाइन ट्रेडिंग एप आज मार्केट में कई सारे ऑनलाइन ट्रेडिंग ऐप आ चुके हैं, जो आपको पेपर वर्क करने के बजाय ट्रेडिंग करने का काम आसान कर सकते हैं. साथ ही इनसे मुनाफा भी कमाया जा सकता है.

टॉप 5 ट्रेडिंग एप्स क्या आप भी ऐसे ही मोबाइल ट्रेडिंग एप को खोज रहे हैं, जो आपके स्टॉक मार्केट की इन्वेस्टमेंट को आसान बना सकें? अगर हां तो हम आपके लिए टॉप 5 ट्रेडिंग ऐप्स की जानकारी लेकर आए हैं.

Upstox trading app Stock Market, Mutual Fund, IPO जैसे कई विकल्प देने वाले Upstox में 100 से ज्यादा तकनीकी संकेत की सुविधा मिल जाती है. इनके वेब पेज पर भी ट्रेडिंग की सुविधा मिल जाती है.

Zerodha app भारत के सबसे पॉपुलर मोबाइल ट्रेडिंग ऐप में इसे गिना जाता है. 2010 में स्थापित हुए इस ऐप में कम से कम ब्रोकरेज लगाया जाता है. वर्तमान में इनके लगभग 50 लाख से ज्यादा ग्राहक है.

Groww app इस ऐप के साथ आप NSE, BSE, इक्विटी, बॉन्ड्स, आदि में आसानी से इन्वेस्टमेंट कर सकते हैं. इसके सिंपल इंटरफेस के कारण आप एक क्लिक पर आसानी से buy/sell कर सकते हैं.

Angel broking इस ऐप की मदद से आप सेगमेंट वाइज वॉच लिस्ट बना सकते हैं. साथ ही जरूरत पड़ने पर कस्टमर केयर कॉल की सुविधा भी इसमें आपको मिल जाती है.

5Paisa app इस डिस्काउंट ब्रोकर ऐप के जरिए आप आसानी से ट्रेडिंग एवं निवेश कर सकते हैं. इसमें स्टॉक मार्केट के लाइव अपडेट के साथ साथ लाइव चैट करने की भी सुविधा आपको मिल जाती है.

ट्रेडिंग और निवेश इन सभी ट्रेडिंग मोबाइल ऐप की मदद से आप आसानी से शेयर मार्केट में ट्रेडिंग कर सकते हैं. साथ ही अगर आप चाहो तो शेयर बाजार में निवेश करते हुए भी पैसा कमा सकते हैं.

अब आप जान ही चुके होंगे कि इन मोबाइल एप के जरिए शेयर मार्केट में ट्रेडिंग करना आसान है. लेकिन अपने वित्त एवं जोखिम के आधार पर ही आपको ट्रेडिंग या निवेश करना चाहिए.

Trading kaise kare?

To visit next Web Story, Swipe Up the following button or Click on it Thank You!

Online Trading: अगर करते ऑनलाइन ट्रेडिंग तो हो जाइये सावधान, RBI ने बैन किये ट्रेडिंग ऐप जानिए पूरी खबर

rbi app banned

Online Trading: अगर करते ऑनलाइन ट्रेडिंग तो हो जाइये सावधान, RBI ने बैन किये ट्रेडिंग ऐप जानिए पूरी खबर रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) अक्सर ग्राहकों की सुरक्षा देखते हुए नए-नए अपडेट देता है। इस बार भी सेंट्रल बैंक ने ऑनलाइन ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करने वाले यूजर्स के लिए अलर्ट जारी किया है। यदि आप भी ऑनलाइन ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म के जुड़े है तो यह खबर जरूर पढ़े। हाल ही में आरबीआई ने एक नई लिस्ट जारी की है, लिस्ट में वैसे ऐप्स और वेबसाईट को शामिल किया गया है, जो फॉरेक्स लेन-देन और सौदे के लिए रजिस्टर्ड नहीं है। इस लिस्ट में आरबीआई ने 34 प्लेटफॉर्म को शामिल किया है।

banned-apps

ध्यान से करे ऑनलाइन ट्रेंडिग नहीं तो हो सकती है कानूनी कार्यवाही

कुछ ऐसे प्लेटफॉर्म हैं जो ग्राहकों को अधिक रिटर्न का वादा करके आकर्षित करते हैं, जो काफी खतरनाक होता है। इतना ही नहीं यदि आपको इन प्लेटफॉर्म का सही ज्ञान ना हो तो आप कानूनी मुसीबतों में भी फंस सकते है। आरबीआई के मुताबिक इन अनाधिकृत प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करने ट्रेडिंग के लिए मोबाइल ऐप वाले यूजर्स पर भी मुकदमा चलाया जा सकता है। आरबीआई ने बयान जारी करते हुए लोगों को आगाह किया की वो किसी भी अनाधिकृत ईटीपी पर विदेशी मुद्रा का लेन-दें या धन राशि जमा ना करें।

इन ऐप को किया गया है बैन
1 Alpari
2 AnyFX
3 Ava Trade
4 Binomo
5 eToro
6 Exness
7 Expert Option
8 FBS
9 FinFxPro
10 Forex.com
11 Forex4money
12 Foxorex
13 FTMO
14 FVP Trade
15 FXPrimus
16 FXStreet
17 FXCM
18 FxNice
19 FXTM
20 HotForex
21 ibell Markets
22 IC Markets
23 iFOREX
24 IG Markets
25 IQ Option
26 NTS Forex Trading
27 OctaFX

ऑनलाइन ट्रेडिंग ऐप क्या है

ऑनलाइन ट्रेडिंग ऐप एक मोबाइल एप्लीकेशन है जिस पर आप स्टॉक खरीद और बेच सकते हैं और अन्य एसेट में ऑनलाइन इन्वेस्ट कर सकते हैं. आपको बस एक स्मार्टफोन और इंटरनेट कनेक्शन की आवश्यकता है

आरबीआई द्वारा रजिस्टर्ड ऐप का ही कर इस्तेमाल

यदि कोई भी ग्राहक फेमा (विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम) के तहत आरबीआई द्वारा रजिस्टर्ड ना किए गए ईटीपी (एक्सचेंज प्रोडक्ट फण्ड) का इस्तेमाल करते हैं तो भविष्य में अगर उनपर कोई कार्यवाही होती है तोह उस कार्यवाही के लिए वो खुद जिम्मेदार होंगे। आरबीआई ने यह जानकारी भी दी की अधिकृत व्यक्तियों आउए ईटीपी की लिस्ट आरबीआई के ऑफिशियल वेबसाईट पर उपलब्ध है। साथ ही आरबीआई ने यह भी कहा की फेमा के नियमों के मुताबिक निवानी व्यक्तियों को सिर्फ अधिकृत व्यक्तियों के साथ और अनुमत कारणों के लिए विदेशी मुद्रा के लेन-देन की इजाजत होती है। यहाँ दिए गए लिंक पर विज़िट करके आप अनाधिकृत प्लेटफॉर्म की लिस्ट देख सकते हैं

Noida: 500 लोगों के डीमैट अकाउंट से ट्रेडिंग के नाम पर ठगी, रकम जानकर रह जाएंगे दंग

arresting new (1)

Noida Cyber Crime News: उत्तर प्रदेश स्पेशल टास्क फोर्स (STF) की नोएडा यूनिट साइबर सेल ने मध्य प्रदेश के एक व्यक्ति को ठगी के आरोप में गिरफ्तार किया है। उसने अपने साथियों की मदद से 500 लोगों का डीमैट अकाउंट (Demat Account) खोलने के नाम पर 15 करोड़ रुपये की ठगी की है। पुलिस उसके साथियों की तलाश में जुट गई है। वहीं उसके गैंग और नेटवर्क के बारे में जानकर पुलिस भी हैरान रह गई।

गाजियाबाद के रहने वाले एक व्यक्ति से ठगे थे 15 लाख रुपये

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक यूपी के गाजियाबाद में रहने वाले अशोक कुमार मिश्रा ने इसी साल फरवरी में नोएडा के सेक्टर-36 स्थित साइबर क्राइम थाने में एक शिकायत दर्ज कराई थी। आरोप लगाया कि किसी ने मुद्रा व्यापार (currency trading) के बहाने मोबाइल एप्लिकेशन से उसके बैंक खाते से 15 लाख रुपये ठग लिए। वहीं एसटीएफ (नोएडा यूनिट) की साइबर सेल प्रभारी रीता यादव ने बताया कि प्रारंभिक जांच में पता चला है, पीड़ित को मेटाट्रेड-05 नामक एक मोबाइल एप्लिकेशन के जरिए ठगा गया था। साइबर टीम और खुफिया जानकारी की मदद से आरोपी की पहचान मध्य प्रदेश के देवास निवासी शोएब मंसूरी के रूप में की गई। वह इंदौर में आमदनी सॉल्यूशंस के नाम से एक फर्जी फर्म चला रहा था।

शातिर ने 10 लोगों का स्टाफ भी रखा था लोगों को फंसाने के लिए

पुलिस ने जब मामले की पड़ताल की तो पाया कि आरोपी ने करीब 10 पुरुषों और महिलाओं को इस काम में अपने साथ रखा था, जो लोगों को कॉल करके करेंसी ट्रेडिंग के बारे में बताते थे और उनके पैसों को दोगुना करने का झांसा देते थे। शिकायतकर्ता को भी इसी तरह का एक कॉल आया था। इसके बाद उसने एक डीमैट खाता खोला और कॉल करने व्यक्ति के कहने पर वही मोबाइल ऐप डाउनलोड कर लिया। ग्राहक ऐप के माध्यम से डीमैट खातों में पैसे ट्रांसफर करते थे। वहीं आरोपियों को डीमैट खाते की पूरी जानकारी मिल जाती थी। इसके बाद ऐप के माध्यम से खाते से पैसे निकाल लेते थे, लेकिन ग्राहक को ऐप पर निवेश की गई रकम दिखाई देती थी।

सिप्ऱ मोबाइल ऐप में दिखते थे पैसे, निकालने पर होता था खुलासा

साइबर सेल प्रभारी रीता यादव ने बताया कि ऐप में निवेशकों को अपनी रकम बढ़ती हुई दिखाई देती थी, लेकिन वास्तव में यह शातिरों की चाल होती थी। यह सिर्फ अंक होते थे। इसके चलते ग्राहक करेंसी ट्रेडिंग ऐप पर भरोसा करते थे और ज्यादा से ज्यादा पैसा लगाते थे। जब ग्राहक ट्रेडिंग के बाद अपना मुनाफे का पैसा निकालने चाहते थे तो आरोपी उन्हें सेटलमेंट चार्ज, जीएसटी या कन्वर्जन चार्ज के रूप में और ज्यादा पैसे देने को कहते थे। रीता यादव ने बताया कि आरोपियों पर धोखाधड़ी और आईटी अधिनियम की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। वहीं पकड़े गए मंसूरी को कोर्ट में पेश कर न्यायिक हिरासत में भेजा गया है। उसके साथियों की तलाश जारी है।

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

रेटिंग: 4.11
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 140